- Advertisement -
- Advertisement -

Farmers Protest: Kangana Ranaut पर एक बार फिर Diljit Dosanjh ने साधा निशाना, कहा- ये कहां की अथॉरिटी है?

एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) लगातार सरकार का समर्थन कर रही हैं। वहीं दिलजीत दोसांझ (Diljit Dosanjh) और प्रियंका चोपड़ा (Priyanka Chopra) किसानों के समर्थन में नजर आ रहे है। इस बात को लेकर कंगना रनौत ने इन दोनों ही एक्टर्स से नाराजगी जताई है। अब इस पर दिलजीत दोसांझ का बयान सामने आया है।


Kangana-Diljit Twitter War:देश में दिल्ली बॉर्डर पर पिछले कई दिनों से नए कृषि बिल को लेकर किसानों का विरोध प्रदर्शन चालू है। वही दूसरी ओर किसान आंदोलन (Farmers Protest) को लेकर बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री दो गुटों में बंट गई है। जहां कई स्टार्स आंदोलनकारियों को सपोर्ट कर रहे हैं तो वही दूसरी ओर कई सरकार द्वारा बनाए गए कानूनों का समर्थन कर रहे हैं। इसी कड़ी में एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) लगातार सरकार का समर्थन कर रही हैं। वहीं दिलजीत दोसांझ (Diljit Dosanjh) और प्रियंका चोपड़ा (Priyanka Chopra) किसानों के समर्थन में नजर आ रहे है। इस बात को लेकर कंगना रनौत ने इन दोनों ही एक्टर्स से नाराजगी जताई है। अब इस पर दिलजीत दोसांझ का बयान सामने आया है।

कंगना (Kangana Ranaut) ने 16 दिसंबर को अपने एक ट्वीट में कहा था कि ये दोनों किसानों को भड़का रहे हैं। कंगना रनौत ने अपने ट्वीट में लिखा है, ‘किसान आंदोलन से 70 हजार करोड़ का नुकसान हो चुका है। जिस तरह से प्रदर्शन हो रहा है उससे छोटी इंडस्ट्रीज को नुकसान हो रहा है और यह आंदोलन दंगों में परिवर्तित हो सकता है। दिलजीत दोसांझ और प्रियंका चोपड़ा, हमारे एक्शन्स से कई लोग प्रभावित होते हैं। इस नुकसान की भरपाई कौन करेगा?’ इससे पहले भी कंगना रनौत ने दोनों एक्टर्स को लेकर कई ट्वीट कर चुकी है।

ये भी पढ़े: साल 2020 में शादी के पवित्र बंधन में बंधे ये सितारें !!

बता दें, ऐसा पहली बार नहीं हुआ जब दिलजीत (Diljit Dosanjh) और कंगना (Kangana Ranaut) एक दूसरे पर तंज कस रहे हों। दरअसल, ये ट्विटर वॉर पिछले कई दिनों से छिड़ी हुई है। दोनों एक दूसरे का खुलकर विरोध करे हैं। कंगना ने तो दिलजीत को करण जौहर का पालतू तक कह दिया था। इस ट्वीट के जवाब में दिलजीत ने भी कंगना को काफी खरी खोटी सुनाई है।

अब कंगना को एक्टर दिलजीत (Diljit Dosanjh) ने करारा जवाब दिया है। उन्होंने लिखा, ‘कौन देशप्रमी है और कौन देशद्रोही है, यह फैसला सुनाने का हक इसे किसने दिया? ये कहां की अथॉरिटी है? किसानों को देश विरोधी कहने से पहले शर्म कर लो थोड़ी.’

- Advertisement -