- Advertisement -
- Advertisement -

महान फुटबॉलर Diego Maradona का Heart Attack से 60 की उम्र में हुआ निधन

अर्जेंटीना (Argentina ) के अपने जमाने के दिग्गज फुटबॉलर डिएगो माराडोना (Diego Maradona) का बुधवार को निधन हो गया है। खबरों के मुताबिक, माराडोना का निधन दिल का दौरा पड़ने से हुआ।


Football legend Diego Maradona Death: अर्जेंटीना (Argentina ) के अपने जमाने के दिग्गज फुटबॉलर डिएगो माराडोना (Diego Maradona) का बुधवार को निधन हो गया है। खबरों के मुताबिक, माराडोना का निधन दिल का दौरा पड़ने से हुआ। उन्होंने 60 साल की उम्र में अंतिम सांस ली। माराडोना लंबे समय से बीमार चल रहे थे. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, दो सप्ताह पहले ही उन्हें ब्रेन में क्लॉट की वजह से सर्जरी करवानी पड़ी थी। माराडोना के निधन पर प्रतिक्रियाओं का दौर भी शुरू हो गया है।

पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने दी श्रद्धांजलि

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने ट्वीट किया कि ”मेरे हीरो नहीं रहे।  मैंने आपके लिए फुटबॉल देखा”

Football legend Diego Maradona Death

Maradona स्वास्थ्य से जुड़ी दिक्कतों से जूझ रहे थे और कुछ हफ्ते पहले उनकी subdural haematoma की सर्जरी हुई थी. दुनिया के सबसे महान खिलाड़ियों में शामिल Maradona उस समय कप्तान थे जब अर्जेन्टीना ने 1986 का वर्ल्ड कप जीता था। अपने क्लब करियर के दौरान उन्होंने बार्सिलोना और Napoli के लिए खेला जाएगा. वे गेंद के साथ जादूगर थे और बहुत से लोग उन्हें हर समय का सबसे महान खिलाड़ी मानते हैं।

ऐसा रहा करियर

माराडोन का फुटबॉल करियर शानदार रहा। उन्होंने खिलाड़ी से लेकर कोच तक का शानदार सफर तय किया। माराडोना साल 1977 से 1994 तक अर्जेंटीना की टीम के सदस्य रहे। इस दौरान उन्होंने 91 मैच खेले और 34 गोल दागे। इस दिग्गज खिलाड़ी ने फुटबॉल के 4 वर्ल्ड कप खेले। साल 1982 में उन्होंने अपना पहला वर्ल्ड कप खेला। इसके अलावा माराडोना ने 1986, 1990 और 1994 का वर्ल्ड कप भी खेला। वो 2008 में अर्जेंटीना की टीम के कोच भी रहे। इसके अलावा उन्होंने कई अन्य टीमों को भी कोचिंग दी। माराडोन के निधन से उनके फैंस को काफी दुःख पंहुचा है। उनके चाहने वाले उन्हें श्रद्धांजलि दे रहे है।

30 अक्टूबर 2020 को मनाया था 60वां जन्मदिन

डिएगो माराडोना ने 30 अक्टूबर 2020 को अपना 60वां जन्मदिन मनाया था और कहा कि उनकी ख्वाहिश इंग्लैंड के खिलाफ एक और गोल करने की है लेकिन इस बार दाहिने हाथ से। अर्जेंटीना के इस महान फुटबॉलर ने 1986 विश्व कप क्वार्टर फाइनल में बायें हाथ से गोल किया था जो सबसे मशहूर भी रहा और बदनाम भी जिसे ‘ हैंड आफ गॉड’ कहा गया। माराडोना ने फ्रांस की फुटबॉल पत्रिका को दिये इंटरव्यू में कहा ,‘‘ मेरा सपना इंग्लैंड के खिलाफ एक और गोल करने का है। इस बार दाहिने हाथ से। इंग्लैंड के खिलाफ माराडोना ने वह गोल किया , तब वह 26 वर्ष के थे।

- Advertisement -